Tuesday, March 5, 2013

Graduation in Ethical Hacking _Admissions 2013 – 2014



Ethical Hacking _Admissions 2014 – 2015 


 Appin Technology lab offers a three years Ethical Hacking and Cyber Security just after 12th. The offered program consists of specialized diploma in Information Security,PathFinder and Ethical Hacking and Robotics. This program is first time in India’s for Information security and Ethical Hacking.

 Eligibility: 12th appeared or appearing in any stream.

Admissions procedure: Students can take direct admission to the program based on the criteria above. Online Application Form for Integrated Graduation in Ethical Hacking can be filled at http://appinhaldwani.com/ Received Applications of shortlisted candidates for Ethical Hacking Program will be reviewed and Online Merit List will be generated.
Appin Technology Lab Hall No-5, 1st Floor Kapil Complex near Mukhani Chauraha Kaladhungi Road Haldwani OR log on www.appinhaldwani.com

Duration: 3 years Recognition: This program is internationally recognized from IADL, London.

Career profiles:
Security consultant, Software engineer, It auditor, Forensics analyst, Intrusion analyst, Network engineer and many more.. Last Date for the submissionof application form for Integrated Graduation in Ethical hacking Program is 30th May 2013.


Saturday, May 7, 2011

दुल्हन की घुड़चढ़ी और आठ फेरे

 i next central desk
  हरियाणा के भिवानी में एक छोटा सा गांव है, खापरवास, जहां पर गुरुवार को एक एतिहासिक मौका दर्ज हुआ. इस गांव की 23 साल की मोनिका रानी ने पहले जहां दूल्हे की तरह घुड़चढ़ी की रस्म अदा की तो वहीं शादी में सात की जगह आठ फेरे लिए. गुरुवार को शादी के बंधन में बंधने वाली मोनिका के मुताबिक उसका यह कदम लड़के और लड़कियों में भेदभाव को खत्म करने के मकसद से है.
  Icon of the society
  मोनिका के इस कदम को उसके गांव और पैरेंटस का पूरा सपोर्ट मिला. बुधवार को घोड़े पर चढ़कर जिस समय वो गांव का चक्कर लगा रही थी उस समय 400 लोग उसे आशीर्वाद देने के लिए मौजूद थे. वहीं जब मोनिका की शादी हुई तो भी गांव के लोगों ने उसे अपनी बेस्ट विशेज दी. मोनिका ने सात की जगह आठ फेरे लेकर एक नई मिसाल कायम की. उसका कहना था कि आंठवें फेरे के साथ ही उसने और उसके पति ने देश में फीमेल इनफैंटीसाइड के खिलाफ कसम ली है. सीनियर सेकेंड्री के बाद स्टडीज छोड़ने वाली मोनिका अब पूरे गांव के लिए मिसाल बन गई है. उसका यह कदम जहां एक तरफ लड़कियों को इंस्पायर करेगा तो वहीं सोसायटी को भी नए तरह से सोचने पर मजबूर करेगा. मोनिका को भिवानी एसपी अश्विन शायन्वे ने इसके लिए इंस्पायर किया और उन्होंने डिस्ट्रीक्ट रेड क्रॉस सोसायटी के साथ मिलकर सेव द गर्ल चाइल्ड कैंपेन भी लांच किया.
  Just like a groom
  मोनिका इस शादी में भले ही एक दूल्हन थीं लेकिन उनका अंदाज किसी दूल्हे से कम नहीं था. घुढ़चढ़ी की रस्म के दौरान मोनिका ने दूल्हे की तरह ही रेड और ब्लू कलर की शेरवानी और सिर पर पगड़ी पहनी हुई थी. वह घोढ़े पर किसी दूल्हे की तरह चढ़कर उस मंदिर तक पहुंची जहां पर उनकी शादी होनी थी. मोनिका के फ्रेंड्स के मुताबिक यह करने के लिए हिम्मत चाहिए और वो शायद सिर्फ मोनिका के पास ही है. मोनिका का भाई उसे बहन नहीं बल्कि अपने बड़े भाई की तरह से देखता है. वहीं गांव वालों का भी कहना है कि अब समय आ चुका है जब पुरानी परंपराओं में कुछ बदलाव होना चाहिए. उन्हें खुशी है कि मोनिका जैसे यंगस्टर्स इस बदलाव को ला रहे हैं. मोनिका फाइनेंशियल प्रॉब्लम्स की वजह से कॉलेज नहीं जा सकी.

Now 26/11 in Europe!

LONDON (5 May, Agency): ओसामा बिन लादेन भले ही अब इस दुनिया में न हो, लेकिन उसके खतरनाक मंसूबे अभी भी जिंदा है. इसका सबूत दिया यमन में ओसामा के सक्सेसर के रूप में देखे जा रहे, अनवर-अल-अवलाकी ने. अवलाकी ने लादेन की मौत के बाद धमकी दी है कि यूरोप में दुनिया एक बार फिर से 26/11 यानी मुंबई हमलों जैसा नजारा देखेगी. अवलाकी की इस धमकी के बाद से ही पूरे यूरोप में एलर्ट है और सिक्योरिटी एजेंसीज भी चौकन्नी हो गई हैं.
  याद करो मुंबई को
  एक लीडिंग ब्रिटिश न्यूजपेपर की तरफ से हुए एक स्टिंग में अवलाकी के इन खतरनाक मंसूबों का खुलासा हुआ है. न्यूजपेपर की तरफ से भेजे गए एक मेल में अवलाकी ने कहा है कि यूरोप को दहलाने के लिए जो ऑप्शंस उनके पास मौजूद हैं उसमें सबसे पहला पाइप बम हैं. इन्हें किसी भी भीड़-भाड़ वाली जगह पर फिट करके आसानी से दुश्मनों से बदला लिया जा सकता है. इसके बाद अवलाकी ने जो आखिरी ऑप्शन दिया है उसमें, उसने पूरी दुनिया से मुंबई का मंजर याद करने को कहा है. धमकी भरे लहजे में उसने लोगों को याद दिलाया है कि कैसे अजमल कसाब और उसके साथियों ने मुंबई के सीने को छलनी कर दिया था और 164 मासूमों को मौत के घाट उतार दिया था.
  Security agencies on alert
  अवलाकी के इस मेल के सामने आने के बाद यूके की मिलेट्री इंटेलीजेंस एमआई16 चौकन्नी हो गई है. इस स्टिंग ऑपरेशन की रिपोर्ट जब एजेंसी को मिली तो उनके कान भी खड़े हो गए.
  सिक्योरिटी एजेंसी के एक सोर्स के मुताबिक अब यहां से हमें और ज्यादा एलर्ट रहना होगा और इसमें कोई शक नहीं है कि अवलाकी आने वाले समय में ब्रिटेन में तूफान लाने के लिए तैयार है. ब्रिटेन और यूएसए दोनों ही ओसामा की मौत के बाद से यहां पर होने वाले किसी भी तरह के हमले के लिए अलर्ट हैं. सिक्योरिटी एजेंसीज की मानें तो अवलाकी अल कायदा में लादेन की जगह ले सकता है.

अमेरिका ने पाक पर फिर किया हमला

ISLAMABAD: पाकिस्तान के चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ जनरल कियानी की धमकी को अभी 24 घंटे भी नहीं हुए थे कि अमेरिका ने पाक पर एक और हमला कर दिया. शुक्रवार को अमेरिका की तरफ से वजीरिस्तान पर ड्रोन अटैक किया गया. इस अटैक में 13 लोग मारे गए. गौरतलब है कि गुरुवार को अमेरिका को धमकी देते हुए कहा था कि अगर उसने एबटाबाद जैसी कोई कार्रवाई दोबारा की तो वो अपने अधिकार के लिए कुछ भी कर सकता है.
  आठ missiles के साथ attack
  शुक्रवार को आठ मिसाइलों के साथ किए गए इस हमले को अमेरिका की जवाबी कार्रवाई माना जा रहा है. मीडिया रिपो‌र्ट्स में कहा जा रहा है कि जो लोग इस हमले में मारे गए हैं वो टेररिस्ट्स हैं, लेकिन अभी उनकी पहचान नहीं हो पाई है. यह इस साल का अब तक का 26वां हमला है, लेकिन लादेन की मौत के बाद से इस इलाके में यह पहला ड्रोन अटैक है.
  लोगों में गुस्सा
  इस हमले के बाद से वजीरिस्तान के साथ ही आसपास के इलाकों में रहने वाले लोगों में काफी गुस्सा है. लादेन के मारे जाने के बाद अमेरिका की तरफ से कहा गया था कि पाकिस्तान में छिपे टेररिस्ट्स को खत्म करने के लिए अगर उसे और हमले करने पड़े तो भी वो पीछे नहीं हटेगा. वहीं पाक ने कहा कि अगर ऐसा कुछ हुआ तो वो भी अपनी संप्रुभता से कोई समझौता नहीं करेगा.

Friday, May 6, 2011

Prince William is back to work

 LONDON (6 May, Agency): एक हफ्ते पहले शादी के बंधन में बंधे रॉयल कपल शादी के ठीक हफ्ते भर बाद ही अपने-अपने कामों पर लौट आए हैं. जहां प्रिंस विलियम वेल्स में अपने काम पर गए वहीं उनकी वाइफ केट मिडलटन ने भी आम लोगों की तरह मार्केट में जाकर खरीदारी की.
  टाल दिया था plan
  ब्रिटिश मिलिट्री ने बताया कि पायलट विलियम नॉर्थ वेल्स में अपने काम पर लौट आए हैं. उन्होंने दो रेस्क्यू कैंपेन में भाग भी लिया. 29 अप्रैल को शादी के बंधन में बंधने के बाद न्यूली वेड कपल ने सिक्योरिटी रीजंस से हनीमून पर जाने का प्लान टाल दिया था. दोनों का वीकेंड ब्रिटेन में ही बीता. विलियम उस चार सदस्यीय चालक में शामिल हैं, जिसने बुधवार को हार्ट प्रॉब्लम से पीड़ित एक 70 साल के बुजुर्ग को रॉयल एयरफोर्स सी किंग हेलीकॉप्टर की हेल्प से हॉस्पिटल पहुंचाया.
  उसके बाद उन्होंने चार पर्वतारोहियों को बचाया. वहीं डचेस ऑफ कैंब्रिज मिडलटन ने आम लोगों की तरह मार्केट में जाकर खरीदारी की.

AK-47s, IEDs replace naxals cru

 इंडिया के अंदर नक्सलवाद एक बड़ी समस्या है और उससे बड़ी प्रॉब्लम यह है कि ये नक्सली अब और हाईटेक होते जा रहे हैं. जी हां, आमतौर पर ट्रेडिशन और ऑर्डिनरी वेपंस यूज करने वाले नक्सलियों के बीच में अब एक-47 और दूसर इंप्रूव्ड एक्सप्लोसिव्स का यूज तेजी से बढ़ रहा है. हाल ही में मुंबई और पुणे से पकड़े गए छह नक्सलियों के पास यही वेपंस पाए गए. इंवेस्टिगेशन कर रही एटीएस टीम ने इस पर चिंता जताई है. उनका मानना है कि उन्हें वेपंस लश्कर या फिर मुजाहिदीन के द्वारा प्रोवाइड कराए जा रहे हैं. पकड़े गए नक्सलियों के पास न सिर्फ यह वेपंस पाए गए हैं बल्कि उन्हें इनके यूज की भी जानकारी है.
  Internal security को खतरा
  इस खुलासे के साथ इंडिया की इंटरनल सिक्योरिटी सिचुएशन पर चिंता जताई जा रही है. एटीएस टीम का मानना है कि ऐसे सोफेस्टिकेटेड वेपंस का इस्तेमाल अभी तक लश्कर-ए-तैयबा और इंडियन मुजाहिदीन करते रहे हैं. पकड़े गए नक्सलियों में से पांच महिलाएं और एक पुरुष शामिल हैं, जिन्हें इस महीने की शुरुआत में मुंबई और थाणे से पकड़ा गया था. पूछताछ में पता चला है कि नक्सली बहुत तेजी से पुराने वेपंस और क्रूड बम का त्याग कर एके-47 और इंप्रूवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस को अपने हथियारों में शामिल कर रहे हैं. इंवेस्टिगेटिव एजेंसी इस डेवलपमेंट के साथ यह पता लगाने की कोशिश कर रही हैं कि क्या इस तरह के वेपंस नक्सलियों को प्रोवाइड कराने के पीछे रेडिकल इस्लामिस्ट ऑर्गनाइजेशंस का हाथ है. नक्सलियों के पास ऐसे वेपंस पाए जाने से उनके मंसूबे साफ नजर आते हैं कि वे देश में सिर्फ डिस्ट्रक्शन चाहते हैं. एक अफसर ने बताया कि उनके पास मिले आईईडी बहुत ही घातक हैं. जरूर नक्सलियों को किसी टेररिस्ट ऑर्गनाइजेशंस का सपोर्ट मिला हुआ है.
  मिली है training
  एटीएस चीफ राकेश मारिया ने बताया कि पकड़े गए छह नक्सलियों में से दो ने कंफेस किया है कि उन्हें एके-47 और आईईडीज का यूज करने के लिए लिए ट्रेनिंग दी गई है. यह ट्रेनिंग उन्हें चंद्रपुर के घने जंगलों के इलाके में दी गई है. राकेश मारिया ने बताया कि वे यह जानने की कोशिश में लगे हैं कि उन्हें यह वेपंस कैसे मिले और इसके पीछे किस एंटी नेशनल ऑर्गनाइजेशन का हाथ है. साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि नक्सलियों को इन वेपंस का इस्तेमाल करने की अच्छी जानकारी प्राप्त है और यह बखूबी उनका इस्तेमाल करते हैं.

Saturday, April 23, 2011

guinness world records सुधांशु सिंघल

सुधांशु सिंघल  वरुण गोयल का स्वागत किया
सुधांशु की दिनचर्या
MEERUT : सुधांशु अपने तेज दिमाग की कोई खास वजह नहीं मानते हैं. वो भी एक आम आदमी की तरह अपनी रोज की दिनचर्या में जीते हैं. सुधांशु बताते हैं कि संतुलित खाना ही शरीर को तंदरुस्त रखता है. अगर शरीर स्वस्थ है तो दिमाग अपने आप तंदरुस्त हो जाएगा. मैं सुबह उठकर 15 मिनट प्राणायाम और मेडीटेशन करता हूं. इसके बाद नॉर्मली नाश्ता लेकर कॉलेज निकल जाता हूं. शाम को भी हलका खाना खाता हूं. देर रात तक इंटरनेट यूज करने की वजह से दो बजे तक सो पाता हूं. मैं तो कहता हूं हर इंसान को नेट यूज करना चाहिए. नेट ही ऐसा माध्यम है जिससे व्यक्ति हर तरह की जानकारी प्राप्त कर सकता है. नेट के जरिए ही मुझे इस शो में जाने का मौका मिला.
कंप्यूटर से भी तेज सुधांशु

i-next reporter
MEERUT (22 April):
मेरठ के सुधांशु ने इतिहास रच दिया है. सुधांशु ने अपनी अद्भुत मेमोरी (याद्दाश्त) से दुनिया में न सिर्फ मेरठ का सिर गर्व से ऊंचा कर दिया, बल्कि गिनीज बुक ऑफ व‌र्ल्ड रिकॉर्ड में भी अपना नाम दर्ज करा दिया.
Longest se,1,1uence
कलर्स टीवी पर चल रहे शो में गिनीज बुक ऑफ व‌र्ल्ड रिकॉर्ड अब तोड़ेगा इंडिया में सुधांशु ने लॉन्गेस्ट सिक्वेंस ऑफ मेमोराइज्ड इन वन सेकेंड का रिकार्ड बनाया. जिसमें सुधांशु को बीस जूते-चप्पल एक क्रम में रखकर एक मिनट के लिए दिखाए गए. फिर जूते-चप्पल को आपस में मिलाकर सुधांशु को दे दिया गया. अब सुधांशु को रिकॉर्ड बनाने के लिए 15 मिनट में कम से कम 15 जूते-चप्पलों को ंउसी क्रम में रखना था. सुधांशु ने 17 जूते-चप्पलों को क्रम में लगाकर गिनीज बुक ऑफ व‌र्ल्ड रिकॉर्ड में अपना और देश का नाम दर्ज करा लिया.

Love ka ‘phone’da

i next central desk
  क्या आज की दुनिया में वाकई में प्यार में फिजिकल अपीयरेंस की इंपॉर्टेस इतनी बढ़ गई है कि इसके आगे इमोशंस की कोई वैल्यू नहीं रह गई है, तमिलनाडु के कोयंबटूर में मंगलवार को हुए एक इंसीडेंट से तो यही बात पता लगती है. यहां पर एक यंगस्टर ने सिर्फ इसलिए सुसाइड कमिट कर लिया क्योंकि उसे वो लड़की खूबसूरत नहीं लगी जिससे उसने कभी प्यार किया था. इस केस में सबसे अजीब बात यह कि छह महीने तक लड़की से बात करने के बाद लड़के ने ही तय किया था कि वो उसी लड़की से शादी करेगा. इस हादसे के बाद से लड़के के पैरेंट्स काफी दुखी हैं तो वहीं उसके दोस्तों में काफी गुस्सा है.
  The killer date
  कोयंबटूर का रहने वाला 24 साल का सी नटराजन एक मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव था. करीब छह महीने पहले उसके पास एक रांग कॉल आई जिस पर एक लड़की ने उससे बात की. इसके बाद नटराजन ने खुद उस लड़की से बात करनी शुरू की और धीरे-धीरे वो उससे प्यार करने लगा. दोनों का फोन रोमांस करीब छह महीने तक चला और फिर नटराजन ने तय किया कि अब वो उस लड़की से मिलेगा.
  नटराजन ने यह भी तय कर लिया था कि वो इसी लड़की से शादी करेगा. मंगलवार को जब नटराजन अपनी पहली डेट पर गया तो उसे वो लड़की वैसी नहीं लगी जैसी उसे चाहिए थी. घर आकर नटराजन ने अपनी वो डायरी खोली जिसमें उसने अपने इन छह महीनों का सारा किस्सा बयां किया था. डायरी में नटराजन ने अपने दोस्तों के लिए नोट लिखा कि वो सुसाइड करने जा रहा है और इसके बारे में उस लड़की को बिल्कुल भी न बताया जाए क्योंकि उसकी मौत की वजह वो लड़की ही है. इसके बाद उसने एक ट्रेन के नीचे आकर जान दे दी.
  नहीं हो रहा यकीन
  नटराजन तो चला गया लेकिन अब उसके पैरेंट्स और उसकी बहन उसके जाने से काफी दुखी हैं. उसके पैरेंट्स को यकीन ही नहीं हो रहा है कि उनका बेटा अब उनके बीच नहीं है. नटराजन की डेड बॉडी दो दिनों तक मॉरच्योरी में ही पड़ी रही. दो दिनों से उसके पैरेंट्स को उसका पता ही नहीं चल पा रहा था. थर्सडे को पुलिस ने जब घर पर फोन किया तो उन्हें यह बुरी खबर सुनने को मिली. नटराजन के पिता के मुताबिक एक बार तो उन्हें अपने बेटे की लाश देखकर यकीन ही नहीं हुआ कि यह उनका बेटा है क्योंकि ट्रेन से कटने की वजह से उसकी बॉडी बिगड़ चुकी थी.

Truly spiritual

i next reporter
  KANPUR (22 April):
आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में जहां लोगों के पास एक-दूसरे तक के लिए वक्त नहीं है. वहीं शहर में एक अपार्टमेंट ऐसा भी है जहां ट्रेडिशनल वैल्यूज और स्प्रिच्युएलिटी से जुड़ी बातें काफी मायने रखती हैं. हम बात कर रहे हैं तिलक नगर के एल्डोराडो अपार्टमेंट की. इस अपार्टमेंट के लोगों ने एक मंदिर समिति बनाई है और 22-28 अप्रैल तक लाजपत भवन में श्रीमद्भगवत कथा का आयोजन किया है.
  गणेश पूजन के बाद शोभायात्रा
  फ्राइडे मॉर्निग सात बजे सबसे पहले अपार्टमेंट में गणेश पूजन हुआ. पूजन के बाद नौ बजे से शोभा यात्रा निकाली गई. मोतीझील से निकाली गई शोभा यात्रा में सभी ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया. महिलाएं जहां सिर पर कलश रखकर आगे-आगे चल रही थीं. पालकी में सवार राधा-कृष्ण की मूर्तियां यात्रा की शोभा थीं. मोतीझील से शुरू यात्रा लाजपत भवन पर जाकर खत्म हुई. वहां शाम को श्रीमद्भागवत कथा का आयोजन किया गया. स्वामी श्री अखंडानंद सरस्वती जी महाराज ने भगवत कथा की महिमा का बखान किया. उन्होंने भागवत महात्मय नारद चरित्र व शुक्रदेव आगमन के बारे में प्रवचन सुनाए. इतना ही नहीं, आजकल के जीवन से जुड़े पहलुओं पर भी बड़े प्रैक्टिकल तरीके से रोशनी डाली. इस अवसर पर सोसाइटी के सेक्रेटरी दिलीप अग्रवाल समेत संजय हिम्मतरामका, किशोर वकील, रवि चौधरी, सोमेन्द्र प्रकाश गुप्ता, हरीश ओमर, नारायण सुल्तानिया आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे.