Pages

Friday, August 13, 2010

झारखंड में एक लाख नियुक्तियों को हरी झंडी

रांची राज्य में सरकारी नौकरियों की बहार आने वाली है। सब कुछ ठीक रहा तो एक लाख बेरोजगारों को जल्द सरकारी नौकरी मिलेगी। शासन ने रिक्त पदों पर नियुक्तियों की तैयारी शुरू कर दी है। विभिन्न विभागों से रिक्तियों का ब्योरा मांगा गया है। शासन ने 10वीं, 12वीं और स्नातक अर्हता वाले रिक्त पदों को कर्मचारी चयन आयोग के माध्यम से भरने का फैसला किया है। ऐसे पदों की संख्या करीब 30 हजार है। इसके लिए कर्मचारी चयन आयोग के जरिए परीक्षा कराई जाएगी। मुख्य सचिव डा. एके सिंह की अध्यक्षता में हुई बैठक में मुख्य सचिव ने राज्य कर्मचारी चयन आयोग की ओर से की जाने वाली नियुक्तियों की विभागवार समीक्षा की। शासन ने पहली बार कर्मचारी चयन आयोग के माध्यम से विभिन्न विभागों के लगभग 10 हजार पदों पर नियुक्ति करने का निर्णय लिया है। इसके तहत वीएलडब्ल्यू, राजस्व कर्मचारी, पंचायत सेवक सहायकों की नियुक्ति की जा सकती है। करीब 70 हजार पदों पर समुचित विधि से नियुक्तियां की जानी हैं। इनमें लगभग 20 शिक्षकों और 10 हजार पुलिसकर्मियों की बहाली शामिल है।

Tuesday, August 10, 2010

Oil spill wrecks havoc

MUMBAI (9 Aug, Agency ): मुंबई से दस समुद्री मील (करीब 16 किलोमीटर) की दूरी पर अरब सागर में शनिवार को हुई दो जहाजों में टक्कर से फैला तेल अरब सागर में पर्यावरण के लिए बड़ा खतरा बन गया है. महाराष्ट्र से सटे अरब सागर में पर्यावरण पर एमएससी चित्रा से रिसा तेल बुरा असर डाल रहा है. महाराष्ट्र के सीएम अशोक चव्हाण ने समुद्र में तेल फैलने से मछलियों के जहरीले हो जाने की आशंका के चलते लोगों से मछलियां न खाने की अपील की है. इस घटना से अरब सागर में विलुप्त होने की कगार पर पहुंच चुकीं हमबैक वेल और कछुओं के वजूद पर संकट पैदा हो गया है.
मर रही हैं मछलियां
जानकार इस बात से चिंतित हैं कि चित्रा से रिस रहा तेल मुंबई के समुद्र तट पर मौजूद मैंग्रोव बेल्ट पर भी बुरा असर डाल रहा है. इससे पर्यावरण संतुलन पर भी बुरा असर पड़ रहा है. मुंबई के पास मौजूद समुद्र में करीब 200 तरह की समुद्री प्रजातियां पाई जाती हैं. समुद्र में मौजूद जीवों और वनस्पतियों पर इसके बुरे असर की आशंका है. सबसे बुरा असर छोटी मछलियों ओइस्टर और लॉबस्टर पर सबसे ज्यादा पड़ रहा है. जानकारों के मुताबिक अरब सागर में विलुप्त होने की कगार पर पहुंच चुकी हमबैक वेल (एक स्टडी के मुताबिक वेल की यह प्रजाति अब सिर्फ 400 की संख्या में अरब सागर में मौजूद है) के वजूद पर समुद्र में तेल फैलने से बड़ा सवाल खड़ा हो गया है. छोटी मछलियों जैसे, ओइस्टर पर भी इसका बहुत बुरा असर पड़ रहा है.
मछुआरों को नुकसान
15 अगस्त से शुरू हो रहे मछलीपकड़ने केसीजन में बॉम्बे डक व पॉम्फ्रे मछलियां पकड़ी जाएगी. मुंबई के पासअरब सागर में मछलियों के मरने की आशंका है, मछुआरों को करोड़ों रुपए का नुकसान होगा.
हमबैक वेल
वेल के शिकार पर पूरी दुनिया में रोक लगाए जाने से पहले हमबैक वेल 1500 तक की संख्या तक सिमट गई थी, लेकिन प्रतिबंध के बाद इनकी संख्या बढ़ी है, लेकिन अरब सागर में इनकी संख्या लगातार गिरती जा रही है और इसे विलुप्त प्राय समुद्री जीवों की श्रेणी में रखा गया है.
पर्यावरणविद् बिट्टू सहगल के मुताबिक हजारों लीटर तेल पानी में फैलने से लाखों समुद्री जीवों के अस्तित्व पर गंभीर ख़तरा मंडरा रहा है.

Wetern lifestyle behind breast cancer

LONDON NEWS: वे महिलाएं जो वेस्टर्न लाइफ स्टाइल में रम गई हैं, यह उन्हें सावधान करने वाली खबर है. नई स्टडी की मानें, तो बिंदास लाइफ स्टाइल ब्रेस्ट कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी को निमंत्रण दे सकती है. व‌र्ल्ड कैंसर रिसर्च फंड द्वारा जारी ताजा आंकड़ों में यह चौंकाने वाली बात कही गई है. इसमें स्पष्ट पर कहा गया है कि महिलाओं के वेस्टर्न लाइफ स्टाइल से प्रभावित होने और एक्सरसाइज न करने की आदत से बेस्ट कैंसर के मामलों में लगातार इजाफा हुआ है. वेबसाइट डेलीमेल डॉट को डॉट यूके के अनुसार इस संस्था ने ब्रिटेन में ब्रेस्ट कैंसर के आंकड़े पेश किए हैं. 2008 में ब्रेस्ट कैंसर के एक लाख केस लगभग 88 मामले ब्रिटेन के थे. इस मामले में बेल्जियम सबसे आगे रहा. यहांकैंसर के प्रति लाख मामलों में 109 मामले ब्रेस्ट कैंसर के पाए गए. 100 मामलों के साथ फ्रांस दूसरे स्थान पर रहा. जबकि गरीबी की मार झेल रहे पूर्वी अफ्रीका में यह संख्या सिर्फ 19 थी. डब्ल्यूसीआरएफ के अनुसार ब्रेस्ट कैंसर के मामलों के संदर्भ में अमीर और निर्धन देशों के बीच यह अंतर लाइफस्टाइल के कारण है.

जुलाई में नई ऊंचाई पर पहुंचा कार बाजार

आम आदमी भले ही महंगाई की तपिश से झुलस रहा हो, लेकिन व्हीकल बनाने वाली कंपनियों के मुनाफे को न तो मंदी छू पाई और न ही महंगाई. पिछले महीने जुलाई के दौरान डॉमेस्टिक मार्केट में सभी तरह के व्हीकल्स की रिकार्ड सेल इसका सबसे बेहतर एग्जांपल है. आंकड़ों के मुताबिक जुलाई में पिछले साल के इसी महीने के मुकाबले व्हीकल्स की सेल 31.50 परसेंट बढ़कर 12,37,461 यूनिट्स पहुंच गई. इंडियन व्हीकल मैनुफैक्चरिंग एसोसिएशन (सियाम) के आंकड़ों के मुताबिक जुलाई 2010 में कुल 12,37,461 व्हीकल्स बिके, जो इससे पिछले साल के इसी महीने की तुलना में 31.50 परसेंट अधिक है.
मार्च को भी पीछे छोड़ा
सियाम के जनरल डायरेक्टर विष्णु माथुर ने बताया कि नए मॉडल्स के पेश होने, रूरल एरियाज में कंपनियों के प्रवेश के साथ फाइनेंस की फैसिलिटी से जुलाई में कारों, स्कूटर और मोपेड की ज्यादा सेल हुई है. इससे पहले सबसे ज्यादा व्हीकल्स की सेल इस साल मार्च महीने में हुई थी. उस दौरान 12,26,944 व्हीकल्स बिके थे.

नॉर्थ इंडिया में होती है ऑनर किलिंग

NEW DELHI : I Next Report- ऑनर किलिंग को रोकने के लिए सरकार कानून बनाने की प्रक्रिया में लगी है, वहीं एक स्टडी में सामने आया है कि झूठी शान के लिए हत्याएं मुख्य रूप से नॉर्थ इंडिया में ही होती हैं. महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री कृष्णा तीरथ ने राज्य सभा को बताया कि राष्ट्रीय महिला आयोग और गैर-सरकारी संगठन शक्ति वाहिनी ने यह स्टडी की है. इसमें ऐसे 560 मामलों की जानकारी जुटाई गई जिसमें यह सामने आया कि ऑनर किलिंग मुख्य रूप से नॉर्थ इंडिया की समस्या है. स्टडी के अनुसार 560 में से 88.93 परसेंट केस में लड़की के परिवार वालों ने ही इन हत्याओं को अंजाम दिया.
नरेगा में मिली गंभीर खामियां
ग्रामीण विकास राज्य मंत्री प्रदीप कुमार जैन ने लोक सभा में जानकारी दी कि देश के नक्सल प्रभावित 35 जिलों में गंभीर खामियां पाई गई हैं. नरेगा में खराब बैंकिंग सुविधाओं, मजदूरी के भुगतान में देरी, नरेगा व पीएम ग्राम सड़क योजना में तालमेल नहीं होने को लेकर टिप्पणी की है. इन जिलों में औसतन 17 से 40 दिन ही रोजगार दिया गया.
जजों के 266 पद रिक्त
ला मिनिस्टर एम वीरप्पा मोइली ने बताया कि देश के 21 हाईकोर्ट में जजों के 266 पद रिक्त हैं जबकि सुप्रीम कोर्ट में चार पद रिक्त हैं.इलाहाबाद हाईकोर्ट में सबसे अधिक 84 पद रिक्त हैं जबकि कलकत्ता और पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में 21-21 पद रिक्त हैं.

चीन में भी टिकट टू बॉलीवुड

चीन व‌र्ल्ड की दूसरी सबसे बड़ी इकॉनमी बन चुका है. इंडिया से उसके बिजनेस रिलेशन भी लगातार विकसित हो रहे हैं. ऐसे में चीन से सांस्कृतिक घनिष्ठता बढ़ाने और वहां ब्रांड इंडिया को पॉपुलर बनाने के लिए इंडियन गवर्नमेंट रंग-बिरंगे बॉलीवुड की हेल्प ले रही है. इस मिशन की शुरुआत करते हुए रविवार को यहां इंडियन गवर्नमेंट की विभिन्न संस्थाओं और चीनी फॉरेन मिनिस्ट्री द्वारा प्रायोजित एक डांस ग्रुप ने लोगों का दिल जीत लिया. करीब 800 दर्शकों से भरे एक सभागार में इस ग्रुप के प्रर्दशन पर जोरदार तालियां बजी. 46 सदस्यों का यह ग्रुप एक महीने तक चीन के 16 शहरों में 22 प्रदर्शन करेगा.
एक गंभीर प्रयास
बिजनेस के साथ इंडियन फिल्मों और कल्चर को पॉपुलर बनाने के लिए यह भारत की ओर से पहला गंभीर प्रयास माना जा रहा है. मुंबई के इस ग्रुप के शो का नाम टिकट टू बॉलीवुड है. ये शो दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंधों के 60 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में किए जा रहे हैं.
क्या है फंडा
टिकट टू बॉलीवुड डेढ़ घंटे का परफॉरमेंस है, जिसमें बॉलीवुड के चार दशकों की झलक देखने मिलती है. खास बात यह है कि टिकट टू बॉलीवुड का जहां-जहां प्रदर्शन होगा, वहां-वहां इंडियन एंबेसी के अफसर बिजनेस सेमीनार आयोजित करेंगे. इनमें भारतीय उद्योग की जानकारी चीन के लोगों को उपलब्ध कराई जाएगी. इनमें खास तौर पर आईटी, इंजीनियरिंग, सर्विस और एग्रीकल्चर पर ध्यान दिया जा रहा है. भारत की कोशिश है कि वह चीन में अपना एक्सपोर्ट बढ़ा सके. अब तक के व्यापार संबंधों में चीन का निर्यात अधिक है. भारत चाहता है दोनों देशों के बीच इंपोर्ट व एक्सपोर्ट का संतुलन बने. चीन में भारत के राजदूत एस. जयशंकर का कहना है, चीन ने भारत को अपने यहां बाजार उपलब्ध कराने का वादा किया है.

रेलवे को ‘Pied Piper’ की तलाश

आपने बचपन में पाइड पाइपर की स्टोरी जरूर पढ़ी होगी. जर्मनी की सिटी हेमलिन के लोग चूहों के आतंक से बेहद परेशान थे. तभी सिटी में एक व्यक्ति आया. उसने लोगों से कहा कि वह शहर से सभी चूहों को भगा देगा. उसने एक म्यूजिकल पाइप तैयार किया और शहर में बजाते हुए दाखिल हुआ. उसके म्यूजिक की धुन पर शहर के सभी चूहे उसके पीछे-पीछे चलने लगे. उसने सभी चूहों को नदी में ले जाकर डूबो दिया और सिटी को चूहों के आतंक से मुक्त कराया. इन दिनों रेलवे भी चूहों से निजात पाने के लिए ऐसा ही कोई उपाए तलाशने में लगा है.
जल्द ही निकलेगा टेंडर
सेंट्रल स्टेशन पर चूहों ने रेलवे की रातों की हराम कर दी है. अबतक लाखों के सामान चट कर गए हैं. अब रेल अफसरों ने इन चूहों से निपटने के लिए नायाब तरीका खोजा है. शीघ्र ही चूहों का सफाया करने के लिए टेंडर निकाला जाएगा. डिपार्टमेंट शीघ्र ही एक कंपनी को ठेका देने के लिए ग्रीन सिग्नल दे देगा.
सिक्योरिटी सिस्टम ध्वस्त
रेलवे की सिक्योरिटी सिस्टम के फैले संजाल को ध्वस्त करने में चूहे कोई कोताही नहीं बरतते हैं. संडे को ही सेन्ट्रल के सीसीटीवी कैमरों के तार चूहों ने काट डाले थे. इससे हड़कंप मच गया. करीब ढाई माह से सेन्ट्रल के जीआरपी थाने में सिक्योरिटी के लिए लगाए गए सीसी टीवी सेट बंद पड़े हैं. पार्सल सेक्शन में रखे लगेज पर भी चूहे रियाज करते हैं और विभाग को जमकर चूना लगाते हैं. रेलवे के माल गोदामों में डे लाइट में ही गदर मचाते रहते हैं. कभी-कभी तो ये चूहे रेल कर्मियों के अलावा पल्लेदारों को काट तक खाते हैं.
रेल प्रशासन के लिए चैलेंज
रेल प्रशासन के लिए चूहे चैलेंज बन गए हैं. इन चूहों को रेलवे स्टेशनों से हटाने के लिए रेलवे डिपार्टमेंट काफी समय से प्लान बना रहा था. लेकिन प्राब्लम का कोई सटीक निदान अफसरों को नहीं सूझ रहा था. एनसीआर(उत्तर मध्य रेलवे)के अधिकारियों ने फ‌र्स्ट टाइम इन चूहों को हटाने के लिए इलाहाबाद में ठेका देने की प्रक्रिया शुरू कर दी है.
डिपार्टमेंट सोर्सेज से मिली जानकारी के अनुसार इलाहाबाद स्टेशन के लिए सेंट्रल वेयर हाउसिंग कारपोरेशन को टेंडर दिया गया है. यह 24 महीने का कॉन्ट्रैक्ट है जिसमें ट्रैक, रेलवे यार्ड, गोदाम आदि शामिल हैं. डिप्टी सीटीएम शिवेन्द्र शुक्ला ने बताया कि सेन्ट्रल से भी चूहे हटाने के लिए टेंडर की प्रक्रिया शीघ्र पूरी कर ली जाएगी.

Sunday, August 8, 2010

Updates to Contacts and a (slightly) new look for Gmail

The News Published in http://gmailblog.blogspot.com check more gmail feature


Updates to Contacts and a (slightly) new look for Gmail

Tuesday, August 10, 2010 | 10:01 AM


We're constantly reviewing user feedback about Gmail, and for a while now the number one request has been for a better contacts experience. You’ve asked us to generally make Contacts easier to use, as well as for specific improvements like sorting by last name, keyboard shortcuts, and custom labels for phone numbers. So, by popular request, we're happy to announce that an overhauled version of Gmail Contacts will be rolling out today.

Contacts now works more like the rest of Gmail, so if you know how to use Gmail, now you should automatically feel comfortable in Contacts too. And you'll see a bunch of the features you've requested, including:
  • Keyboard shortcuts (go to Contacts and hit "?" for the full list)
  • Sort by last name (look under "More actions")
  • Custom labels for phone numbers and other fields
  • The ability to undo changes you've just made
  • Automatic saving
  • Structured name fields, so you can adjust titles, suffixes, and other name components
  • A bigger, more prominent notes field

While we were at it, we also improved our layout and made it easier to get to Contacts and Tasks. You'll see these links are now up at the top left corner of your account (along with a link for "Mail" that takes you back to your inbox).


If you’re not interested in Contacts or Tasks, you can hide these links by clicking near the right edge of "Mail." Overall, there's now a smaller header area that puts the first message in your inbox about 16 pixels higher on the screen than before.

If you use Google Apps, you won't see these updates to Contacts quite yet. We’re actively working on making domain-specific features work well in the new interface and plan to make this new version of Contacts available to Google Apps customers too.

Please keep the feedback coming, we are always working hard to make Contacts, and all of Gmail, better.