Pages

Wednesday, September 22, 2010

Now come the next year Ganapati

अब अगले बरस आएंगे गणपति


बारह दिन तक हमारे घर में मेहमान बनकर विराजे गणपति को अब विदा करने का समय आ ही गया. इतने दिनों तक उनकी सेवा करने के बाद आज गणपति की प्रतिमा को सिटी के कई घाटों पर विसर्जित किया जाएगा. बुधवार को हर सड़क और गली में गणपति बप्पा मोरया की गूंज के साथ उड़ेगा गुलाल.
महाराष्ट्र मण्डल से सिद्धिविनायक
यूं तो गणेश उत्सव के दूसरे दिन से ही विसर्जन होने लगता है लेकिन आज उत्सव के आखिरी दिन सिटी में विसर्जन होगा. आज दोपहर एक बजे महाराष्ट्र मण्डल में महाआरती होने के बाद गणपति को सिद्धिविनायक मंदिर ले जाया जाएगा. वहां से शुरू होगी शोभा यात्रा, उनकी सुंदर सी प्रतिमा को देखने के लिए लगभग दो से तीन हजार भक्तों की भीड़ होती है. गणपति को घाट तक ले जाने के लिए रथ भी तैयार किया गया है. यात्रा जनरल गंज, हटिया, मेस्टन रोड, बड़ा चौराहा होते हुए सरसइया घाट जाएगी. रास्ते में ढोल ताशे के साथ सभी भक्त नाचते-झूमते पूरे जोश के साथ गणपति का विसर्जन करेंगे.
महाराष्ट्र मण्डल के सेक्रेटरी सुभाष देव का कहना है कि गंगा किनारे भी आरती होगी. जैसा कि गंगा का पानी खतरे के निशान को पार कर चुका है इसलिए नाव से ज्यादा दूर नहीं जाएंगे. वहीं बीएनएसडी में प्रसाद वितरण होगा. इसी के साथ ही 24 सितंबर का दिन शांति से बीते इसके लिए भी प्रार्थना करेंगे.

No comments:

Post a Comment