Facts about momos

ट्रेडिशनली इसे सर्व करने के लिए बैंबू बोल्स यूज किया जाता है जिसे स्टीम्ड ट्रॉली के उपर रखते हैं . ओरिजनली मोमोस को कीकोमेन सॉस के साथ सर्व किया जाता है जिसमें राइस वाइन और चॉप्ड जिंजर पड़ता है. पर इंडियन टेस्ट के अकार्डिग उसे रेड चिली सॉस के साथ सर्व किया जाता है. साउथ चाइना के मोमोस के कम्पेरिजन में नार्थ इंडिया के मोमोस की कोटिंग थिक होती है और ये काफी स्पाइसी भी होते हैं. मोमोस बेसिकली चाईनीज डिश है जिसे साउथ चाइना के लोग शाम को टी के साथ एंज्वॉय करते हैं. मोमोस और डिमसम में फर्क है तो सिर्फ शेप का. मोमोस हाफ मून के शेप में होते हैं और डिमसम गोल शेप के. Momos are the latest hot and scrumptious snack option taking over the localites. Leaving pani puris and chat way back these small little dumplings have wooed the Indian palate in a very short span Momo mia फूड से रिलेटेड अपने क्वेश्चंस और स्पाइस इट अप पेज पर अपने सजेशंस और फीडबैक हमें इस आईडी पर दें वेट वॉचर्स स्टीम्ड मोमोज को फ्राइड स्टफ से बेहतर होने की वजह से पसंद करते हैं और टेस्ट वॉचर्स उनके टेस्ट के लिए. मानते हैं कि स्टीम्ड मोमोस तले हुए समोसा, चाट और पकौड़ों से काम्पटीशन में कई आगे है. मोमोस की बढ़ती पॉप्यूलैरिटी अब हर सीजन का हॉट फेवरेट स्नैक ऑप्शन बन चुका है जोकि टेस्टी होने के साथ साथ हेल्दी भी है.

 USP:  मोमोस का यूनीक सेलिंग प्वॉइंट है इनकी स्टफिंग. स्टफिंग को लेकर आप मोमोस में काफी एक्सपेरिमेंट्स कर सकते हैं. नॉन फ्राइड होने की वजह से हेल्थ कांशस लोग भी इसे मजे से एंज्वाय करते हैं. पिकैडली के शेफ अजय अवस्थी का कहना है कि,मैदे से बने होने के बावजूद हेल्थ कांशस लोग इसे आराम से खा सकते हैं क्योंकि बहुत थिन कोटिंग और स्टीम्ड होने की वजह से मैदे के अंदर मौजूद सारे फैटी एसिड निकल जाते हैं जिस वजह से ये नुकसान नहीं करता. इसकी ओरिजनल कीकोमेन सॉस भी फैट फ्री होती है पर इंडिया में सर्व की जाने वाली चिली या गार्लिक सॉस काफी ऑयली होती है.

Momos thoda hatke ये हैं कुछ टिप्स जिन्हें फॉलो करके आप अपने इस टेस्टी स्नैक ऑप्शन को और भी इंट्रेस्टिंग बना सकते हैं. मोमोस के लिए मैदा गूंथते समय आप गरम पानी का इस्तेमाल करें इससे मोमोज काफी सॉफ्ट बनेंगे. मोमोस में कीमे या चिकन की फिलिंग करने से पहले कीमे में गर्म पानी डालें और अच्छे से फेंट लें इससे वो लाइट वेट हो जाता है और अंदर की फिलिंग साफ्ट बनती है. मोमोस के लिए मैदे की चपातियां बेलते समय ये ध्यान रखें कि वो इतनी पतली हों कि उसके अंदर की स्टफिंग दिखने लगे वरना अगर लेयर मोटी होगी तो स्टीम करते समय मैदा पकेगा नहीं. करी मोमोस बनाने के लिए करी मसाले को फिलिंग में डालकर भून लें इससे उसका टेस्ट और भी बढ़ जाएगा. 4वेजिटेबल की फिलिंग करने से पहले उसे उबाल लें वरना स्टीम करते समय वो पानी छोड़ देगा.
Yummy swappings 4हेल्थ कांशस लोग चिकन और कीमे की फिलिंग को बींस, स्प्राउट्स, पालक, सोयाबीन से स्वैप कर सकते हैं. इनमें प्रोटीन ज्यादा होता है. 4वेजीस वैराइटी लाने के लिए इसमें चिली पनीर, आलू, चीज की स्टफिंग कर सकते हैं और नॉन वेजीस के पास चिली चिकन और करी मसाला का ऑप्शन मौजूद है.

  Variety is the spice of life मोमोज का असली मैजिक है उनकी स्टफिंग में. स्टफिंग में वेज और नॉनवेज दोनों ही तरह के काफी ऑप्शंस हैं. वैसे स्टफिंग के साथ थोड़े से एक्सपेरिमेंट्स करके आप कुछ नए फ्लेवर्स क्रिएट कर सकते हैं. स्टफिंग में डिफरेंट मैटीरियल का कॉम्बो भी किया जा सकता है.

नॉन वेज कॉम्बोज चिकेन के साथ कैरट के पीसेज मिलाकर स्टफिंग तैयार की जा सकती है. इसी तरह फिश की स्टफिंग तैयार कर रही हों तो उसमें वैरायटी के लिए स्पिनेच मिलाई जा सकती है. वेज कॉम्बोज 1. वेजिटेबल फिलिंग्स में कई सारे ऑप्शंस हैं. वैसे इन्हें और भी ज्यादा हेल्दी बनाने के लिए या सब्सि्टट्यूट के तौर पर स्प्राउट्स और बीन्स की फिलिंग भी कर सकते हैं. 2. स्पिनेच, स्प्राउट्स और बीन्स की फिलिंग काफी हेल्दी और टेस्टी होती है. 3. ब्रोकली और पीनट्स की स्टफिंग भी टेस्ट और हेल्थ दोनों के नजरिए से बेहतर है.

Chutney variations मोमोस में टेस्ट का तड़का लगाना हो तो चटनी से अच्छा और कु छ भी नहीं. आप मोमोस को अपने टेस्ट और पसंद के हिसाब से नीचे दी गई किसी भी चटनी के साथ सर्व कर सकते हैं. गार्लिक सॉस लहसुन की चटनी मस्टर्ड सॉस जो लोग प्याज और लेहसुन नहीं पसंद करते वो हरी धनिया की चटनी के साथ इसका मजा ले सकते हैं. घर में ऑरिजनल कीकोमेन सॉस बनाने के लिए आप सोया सॉस में थोड़ा पानी मिला कर उसक लाइट कर दें. बच्चें के लिए तीखे सॉस को टोमैटो सॉस ये स्वैप कर सकते हैं.

Khansama चिकन या मटन को मैरिनेट कराने के बाद उसका एक्चुअल कुकिंग टाइम क्या होना चाहिए?चिकन और मटन दोनों का मैरिनेशन टाइम अलग-अलग होता है. अगर आप चिकन बना रहे हैं तो दूसरे मैरिनेशन स्टेप के बाद केवल 7 से 10 मिनट में ही चिकन को पकाएं. इससे ज्यादा देर पकाएंगे तो चिकन के पीसेज टूट जाएंगे और ग्रेवी में ब्लेंड हो जाएंगे जबकि अगर आप मीट बना रहे हैं तो मैरिनेशन के दूसरे स्टेप के बाद 10 से 12 मिनट में उसे पकाएं. पीसेज बड़े हैं तो ज्यादा से ज्यादा 15 मिनट में पकाकर उसे गैस से उतार लें. अगर कबाब के पीसेज माउथ मेल्टिंग और जूसी चाहिए हो तों कुकिंग टाइम ड्योरेशन ज्यादा हो जाएगा. जूसी कबाब पीसेज के लिए पहले मैरिनेशन के दौरान जिंजर-गार्लिक पेस्ट के साथ 15 ग्राम पपाया डालकर भी आप मीट के पीसेज को सॉफ्ट और जूसी बना सकते हैं. मैं नॉन वेज खाने का शौकीन हूं लेकिन वो काफी हैवी होता है. नॉन-वेज की हैवीनेस और उसके हार्मफुल एफेक्ट्स से बचने का कोई उपाय बताएं. इसका सबसे अच्छा तरीका है कि इसे लो-फैट ऑइल या घी में कुक किया जाए. ऐसा घी प्रिफर न करें जिसका कॉलेस्ट्रॉल क्वॉलिटी वाइज अच्छा न हो. हम सबसे बड़ी गलती तब करते हैं जब हम डाइट में कार्बोहाइड्रेट के रेशियो को प्रोटीन रेशियो से ज्यादा कर देते हैं. मतलब नॉन-वेज यानी प्रोटीन वाले फूड को जब हम चावल वगैरह जैसी कार्बोहाइड्रेटेड फूड के साथ लेते हैं तो हैविनेस होना लाजमी है. टेस्ट के लिए कभी-कभी नॉन वेज के साथ चावल और ज्यादा रोटियां ले लेते हैं. इससे हैविनेस और उबकाई जैसा लगने लगता है. इसलिए नॉन वेज खाते समय खाली नॉन वेज खाएं तो वो हेल्दी तो होगा ही साथ में हैविनेस भी नहीं होगी. इसके अलावा ऐसी डाइट लेते समय ध्यान दें कि खाने के बीच में पानी न पीएं या फिर खाने के बाद भी पानी अवॉइड करें. बेहतर है खाने के 10-15 मिनट पानी लें. यह एक हेल्दी ऑप्शन है. मोमोज को सोया सॉस, चिली सॉस और विनेगर के साथ सर्व करें. मोमोज को खीरे के ठंडे स्लाइसेज के साथ सर्व कर सकते हैं. मोमोज को इंडियन स्टाइल में सर्व करने की बात करें तो इसके साथ यूज होने वाली चटनी का स्पाइसी होना बहुत जरूरी है. फॉर ए चेंज आप इसे पुदीना चटनी या चीली फ्लेवर के टमैटो फ्लेवर के साथ सर्व कर सकते हैं. इसके अलावा नारियल की चटनी और सांभर के साथ भी मोमोज टेस्टी लगते हैं.
Facts about momos Facts about momos Reviewed by Brajmohan Saini on 10:31 AM Rating: 5

No comments:

Comment Me ;)

Powered by Blogger.