बूंद-बूंद से घड़ा भरता है |

KANPUR (27 Oct): मंदी आई तो कानपुराइट्स बचत के पुराने तरीके पर लौटने लगे. शेयर बाजार में पैसा लगाने का वे जोखिम नहीं लेना चाहते, तभी तो वे गवर्नमेंट की विभिन्न बचत स्कीम्स में जमकर पैसा जमा कर रहे हैं. यानी शेयर बाजार में एक साथ बड़ा दांव मारने के बजाय बूंद-बूंद घड़ा भरने पर विश्वास कर रहे हैं. तभी तो विभिन्न सेविंग स्कीम्स में कानपुराइट्स पिछले कुछ महीने में करोड़ों रुपए जमा कर चुके हैं. सबसे ज्यादा इंवेस्टमेंट एमआईएस में किया जा रहा है.
Easy process
कानपुराइट्स एनएससी, केवीपी, एमआईएस, पीपीएफ सहित अन्य सेविंग स्कीम्स में करीब पौन चार सौ करोड़ रुपए जमा कर चुके हैं. लोगों में पैसा इंवेस्ट करने का सबसे ज्यादा इंट्रेस्ट मंथली इंकम स्कीम (एमआईएस) में दिखा. इसमें सितंबर तक करीब 128 करोड़ रुपए जमा हो चुका है. इस स्कीम में स्टूडेंट से लेकर रिटायर्ड लोग मिनिमम 1,500 रुपए से इंवेस्ट कर सकते हैं. सिक्स इयर की इस स्कीम में सालाना आठ परसेंट इंट्रेस्ट मिलता है. साथ ही स्कीम पूरी होने पर जमा धनराशि पर पांच परसेंट बोनस भी मिलता है. इसके अलावा डाक विभाग की केवीपी और एनएससी में लोगों ने जमकर इंवेस्ट किया.
बूंद-बूंद से घड़ा भरता है | बूंद-बूंद से घड़ा भरता है | Reviewed by Brajmohan Saini on 4:00 AM Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.