Pages

Sunday, September 20, 2009

Don’t worry about "china"

NEW DELHI (19 Sept, Agency): हाल में चीन की ओर से भारतीय सीमा में घुसपैठ की खबरों के बीच भारत ने कहा है कि चीन से लगती सीमा पर हालात ठीक हैं. इसमें चिंता करने की कोई बात नहीं है. मीडिया से इस मामले को तूल नहीं देने के लिए कहा गया है. शनिवार को हर स्तर पर भारत सरकार की ओर से यही संदेश दिया गया.
No border threat

आर्मी चीफ, नेशनल सिक्योरिटी एडवाइजर और फॉरेन सेक्रेटरी ने भी भारत-चीन सीमा के हालात को खतरनाक मानने से इंकार कर दिया. साथ ही, कहा कि मीडिया ने अगर मामले को तूल दिया तो स्थिति बिगड़ सकती है.
Stable situation

फॉरेन सेक्रेटरी निरुपमा राव ने मीडिया में हाल में आई चीनी घुसपैठ की खबरों को हाइप करार दिया. उन्होंने कहा कि आम धारणा के विपरीत भारत-चीन वास्तविक नियंत्रण रेखा पर काफी शांति और स्थिरता है. राव ने इस बात से भी इंकार किया कि पिट्सबर्ग में जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान मनमोहन सिंह का चीनी पीएम से मिलने का प्रोग्राम है.
Media
संयम बरते
नेशनल सिक्योरिटी एडवाइजर एम.के. नारायणन ने एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में आगाह किया कि मीडिया में अगर इस मुद्दे को ज्यादा उछाला गया तो कोई भी पक्ष धैर्य खो सकता है. नतीजतन कोई अवांछित घटना या हादसा भी हो सकता है, जो पड़ोसी देश के साथ समस्या पैदा कर सकता है. उन्होंने कहा कि चीन से घुसपैठ में कोई वृद्धि नहीं हुई है और न ही सीमा पर खतरनाक हालात हैं.
तूल देने की जरूरत नहीं
उधर, चेन्नई में आर्मी चीफ जनरल दीपक कपूर भी इसी सुर में बोले. उन्होंने कहा कि चिंता वाली कोई बात ही नहीं है. एक दिन पहले पीएम मनमोहन सिंह ने भी कहा था कि पिछले साल की तुलना में इस साल चीन से घुसपैठ की घटनाओं में कोई इजाफा नहीं हुआ है.
उचित जवाब दे रही है Army
उन्होंने भी मामले को तूल नहीं देने की जरूरत बताई थी. कपूर ने यह भी कहा कि सेना पाकिस्तान द्वारा सीज फायर के उल्लंघन का माकूल जवाब दे रही है. जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों की घुसपैठ की कोशिशों के बारे में उन्होंने कहा कि सर्दियों से पहले ऐसे प्रयास किए जाएंगे. ऐसे खतरों से निपटने के लिए सेना तैनात की गई है.

No comments:

Post a Comment