डरें नहीं, बस करें उपाय

I Next Reporter :- काल सर्प योग! क्या हुआ डर गए. वैसे डर लाजिमी भी है क्योंकि यह योग ही कुछ ऐसा है कि जिसके बारे में सुनते ही हर शख्स की पेशानी पर बल पड़ जाते हैं. जन्म कुंडली में यह योग आते ही जीवन भर की परेशानियों से जूझना पड़ता है. जानकारों की नजर में शनि की कोप दृष्टि के बाद अगर कोई दूसरा योग है तो वह काल सर्प योग ही है. इसी काल सर्प योग की शांति के लिए नागपंचमी का दिन सर्वश्रेष्ठ माना जाता है.
कैसे बनता है यह योग
एस्ट्रोलॉजर्स बताते हैं कि स्पेस में राहु केतु 180 डिग्री के एंगल पर होते हैं. जातक की जन्म कुंडली में राहु और केतु आमने सामने होते हैं. ऐसे में इनके एक तरफ सारे ग्रह आ जाते हैं तो काल सर्प योग बनता है. एक्सप‌र्ट्स के मुताबिक, काल सर्प योग 288 प्रकार के होते हैं. हालांकि वासुकी काल सर्प योग, पदम काल सर्प योग, कर्कोटक काल सर्प योग, कुलिक काल सर्प योग, महापदम काल सर्प योग, शंखनाद काल सर्प योग, तक्षक काल सर्प योग, अनंत कालसर्प योग, शंखपाल काल सर्प योग, पातक काल सर्प योग, शेषनाग काल सर्प योग, विषाक्त कालसर्प योग ऐसे हैं जिन्हें प्रमुख मानते हैं.
क्या हैं दुष्परिणाम ?
जानकारों के मुताबिक जिस जातक की कुंडली में काल सर्प योग होता है उसे अकारण ही परेशानियों का सामना करना पड़ता है. जातक को धन, संतान, स्वास्थ्य, करियर, जीवन साथी को लेकर परेशानियां बनी रहती हैं. उसके जीवन में स्ट्रगल बना ही रहता है. ऐसा जातक जितनी मेहनत करता है उसका पूरा लाभ नहीं मिलता है.
हाउसफुल हुए पंडित
नाग पंचमी पर कालसर्प योग से निजात पाने के लिए पंडितों की बुकिंग हो चुकी है. जिन लोगों की कुंडली में काल सर्प योग का दुष्प्रभाव है ऐसे लोगों ने विशेष अनुष्ठान कराने की पूरी तैयारी कर रखी है. सिटी के कैलाश मंदिर और रेणुका धाम मंदिर पर नाग पंचमी को विशेष अनुष्ठान की व्यवस्था की गई है.
बढ़ा कारोबार
सिटी के ज्वेलर्स को नाग नागिन के गोल्ड, सिल्वर और ब्रास में जोड़ा बनवाने के काफी आर्डर मिले हैं. ज्वेलर्स के मुताबिक, पिछले साल की तुलना में करीब 30 परसेंट ग्रोथ हुई है. इसके पीछे काल सर्प योग के प्रति बढ़ी अवेयरनेस को माना जा रहा है. एक अनुमान के मुताबिक नाग पंचमी पर कई लाख का कारोबार हो जायेगा.
होता है बेनिफिट भी
एस्ट्रोलॉजर्स के मुताबिक, कालसर्प योग सिर्फ कष्ट देने का ही काम नहीं करता है. अगर जातक इसकी शांति का उपाय कर ले और उसकी ग्रह दशा उसके अनुकूल हो जाए तो यह रातों रात समृद्धि और प्रसिद्धि भी दिलाता है. सचिन तेंदुलकर, सौरभ गांगुली, मोरारी बापू, हर्षद मेहता आदि की कुंडली में भी काल सर्प योग है. यह अपने करियर के चरम पर पहुंच चुके हैं. शांति उपाय के बाद जातक आने वाली परेशानियों से निजात पाने के साथ सुख शांति भी पाता है.
डरें नहीं, बस करें उपाय डरें नहीं, बस करें उपाय Reviewed by Brajmohan Saini on 5:10 AM Rating: 5

No comments:

Comment Me ;)

Powered by Blogger.